पानी हूँ पानी रहने दो

Standard
कितना शीतल, कितना निर्मल
हिमगिरि के हिम से निकल निकल,
यह निर्मल दूध सा हिम का जल,
कर-कर निनाद कल-कल छल-छल,
तन का चंचल मन का विह्वल
यह लघु सरिता का बहता जल
-गोपाल सिंह नेपाली
जीवन के अस्तित्व के लिए जिस प्रकार हवा का होना बेहद आवश्यक है उसी प्रकार जल भी जीवन का अति आवश्यक हिस्सा है. जल के बिना जीवन अकल्पनीय है.
हम अपने जीवन में प्रतिदिन जल का प्रयोग करते हैं, लेकिन कभी उसकी महत्ता और अमूल्यता पर तनिक भी विचार नहीं करते. यह बात आपको अजीब लग सकती है किंतु सच्चाई से मुंह तो नहीं मोड़ा जा सकता. सुबह जगने से लेकर रात में सोने तक, हमारी दिनचर्या का एक अनिवार्य हिस्सा है जल. जैसे- खाना बनाना, पीना, कपड़े साफ़ करना, हाथ-पैर साफ़ करना आदि-आदि. एक कल्पना करिए कि अगर आपको खाने के बाद पीने को पानी न मिले तो कैसा महसूस होगा. धूल-मिट्टी से सने पैरों को धोने के लिए उचित मात्रा में जल उपलब्ध न हो तो क्या होगा!
ये तो हुई अनिवार्य दिनचर्या की बात. इसके अलावा हमारी एक और आदत है जो यकीनन बुरी है. इस बारे में हम कभी सोचते तक नहीं. वह आदत है पानी की महत्ता को भूलकर पानी का दुरूपयोग. हम हर रोज नहाते समय, ब्रश करते समय, हाथ धोते समय पानी को बेमतलब बहा रहे होते हैं लेकिन हमें इसका तनिक भी भान नहीं होता. बेकार में नल खुला छोड़ देने से होने वाले नुकसान के बारे में हमने शायद ही कभी सोचा होगा! मैं हमेशा अपने आस-पास ऐसी परिस्थिति देखकर विचलित हो जाता हूँ.
बचपन में, जब भी मुझसे कोई गलती होती थी, मेरे पिताजी गुस्से में सवाल करते थे, ‘क्या पढ़ते हो?’ मैं अकेले में सोचता था कि इस गलती में मेरे विषयों का क्या गुनाह है? अब जाकर मेरी समझ में आया है कि उनका मकसद यह जानना होता था कि पढ़ाई से मैंने क्या सीख ली है. पढ़ाई का मतलब केवल विषयों का ज्ञान भर नहीं होता, बल्कि इसका मकसद हमारी सोचने-विचारने की क्षमता का विकास करना होता है. शिक्षा से हम मानवता की ओर आकृष्ट होते हैं.
ईश्वर ने हमें अमूल्य जल दिया है. अपने जीवन के साथ-साथ इस धरती की सलामती इसी में है कि हम जल संरक्षण के लिए अपने प्रयास तेज करें और हर छोटे प्रयास से इस बड़े यज्ञ में अपना योगदान दें.
Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s